Indian Railway Revenue 2016-17 भारतीय रेल कितने पैसे कमाता हैं

               (Introduction)

आज हम बात करने वाले है कि Indian Railway के Profit की।

Indian railway History :- भारतीय रेलवे आज पूरी दुनिया मे 4rth बड़ा रेलवे नेटवर्क है। भारत मे पहली ट्रेन 16 अप्रैल 1853 को बॉम्बे (bombay) से ठाणे (thane) के बीच  चलाई गई।
दुनिया के सबसे बड़ा रेल नेटवर्क।

  1. Us
  2. China
  3. Russia
  4. India
भारत 4 नम्ब पर है।
Indian-railway-revenue-2016 -in hindi

Indian Railways Profit पैसे कहा से कमाता है रेलवे। ये डेटा 2016 का हैं। ज़ुरूरी नहीं की हार साल इतनी ही कमाई हो इस से ज़्यादा भी हो सकती हैं।

 इंडियन रेलवे 4 तरिके से पैसा कमाता है और वो हैं।
  1. पैसेंजर सर्विसेज ( Passenger Services)
  2. कैटरिंग            (Catering)
  3. Luggage & पार्सल
  4. Frieght Services ( मालगाड़ी)
  5. एड्स से (अबी ये बहुत कम है)
 हम बात करने वाले है पहले 4 नम्बर तक क्यों कि 5 नम्बर अबी पूरी तरह से एक्टिव नहीं ही।
Indian-railway-revenew-data-2016

  1. Passenger Services से रेलवे करीब  RS 40000 cr की कमाई करता है ( ac + non ac+ स्लीपर + जनरल)
  2. कैटरिंग से Rs 12000 cr ( ट्रेन के अंदर जो खाना देती है रेलवे + जो स्टेशन के अंदर दुकाने + स्टाल लगे होता है )
  3. लगेज से Rs 7000 cr ( जो ट्रैन में लगेज पार्सल भेजते है उस से)
  4. और अंत मे मालगाड़ी  Rs 100000 cr (ये वो सर्विस है जिसपर रेलवे बिल्कुल भी ध्यान नहीं देता क्या आप जाने है ये मालगाड़ी सबसे ज़्यादा पैसे कमाती है रेलवे के लिए और ये मालगाड़ी कबी भी रेलवे को घाटे में नही रखती।)
  5. और कुछ अन्य प्रकार से भी ।
अगर हम इन सब को जोड़े तोह रेलवे की टोटल कमाई होती है Rs 170000 Cr ये कमाई साल 2016 की है।
अब आप सोच रहे होंगे की इतनी कमाई करके भी रेलवे की यह हालत क्यों है तोह अब आप रेलवे के खर्च भी देख लीजिए।

Indian Railways Expenditure 2016 रेलवे कितना खर्च करता है।

  1. कर्मचारियों की सैलेरी = Rs 123000 cr ( भारत में इतने बड़े रेल नेटवर्क को चलाने के लिए लोग भी बहुत चाइये। भारतीय रेलवे मे करीब 13 लाख से ज़्यादा लोग कम करते है।
  2. रिज़र्व फण्ड के लिए रेलवे Rs 5000 cr ( ये reserve fund किसी भी एमरजेंसी के लिए रखता  है।
  3. पेंशन Rs 35000 cr ( जो पुराने कर्मचारी है उनकी पेंशन)
  4. Maintance Rs 1500 cr ( मेन्टेन्स के लिए ट्रैक मेन्टेन्स एनजीएन etc
टोटल हुुुआ Rs 165000 cr
Total कमाई  Rs 170000 cr - 165000 cr = 5000 Cr
इतनी सारी कमाई में बचे सिर्फ Rs 5000 Cr ये भी वहाँ यूज़ करते है अगर कोई अचानक प्रॉब्लम हो गयी तोह वह उसे होते है है पैसे।

Conclusion Indian railways profit & loss

हमे figure देख कर ये पता चला कि मालगाड़ी सबसे ज़्यादा कमाई करती हैं बाकी की services से और रेलवे मालगाड़ी पर ज़्यादा ध्यान नही देता। ये मालगाड़ी कबी भी रेलवे को घाटे में नहीं रखती।
अगर हम रेलवे की बात करें तो हमेशा रेलवे को सारे लोग टोकते है रहते है रेलवे का कहना अच्छा नहीं है wifi नही है। ट्रैन हमेशा लाते होती है रेलवे सफाई पर ध्यान नहीं देता । बहुत से लोग कहते है विदेश की रैल में ये सर्विस है कहना अच्छा है etc।
लेकिन क्या हमने कबी ये सोचा है कि हमने Indian Railway को क्या दिया है । जी हां विदेश की रेल सेवा हमारी रेल सेवा से ज़्यादा सर्विसेज देते है लेकिन उनको पैसे भी तोह ज़्यादा देने पड़ते है।
और हमारी Indian Railway पूरी दुनिया मे सबसे कम पैसे लेकर ज़्यादा सफर करवाती है भाई जितने आप pay करते हों उस से ज़्यादा ही सफर करवाता है रेलवे।
और कुछ लोग तोह रेलवे को इतना अपना समझने लगते है कि वो रेल का सामान तोड़ फोड़ और तो और घर तक ले जाते है में बात कर रहा हूँ तेजस ट्रैन की आपको याद ही होगा कि क्या हाल बनाया था tejas का पहले दिन है।
और अगर सफाई की बात करे तोह उसका भी हमें है ध्यान रखना होगा हमेशा dustbin में है डेल कचरा।
और ट्रेन लेट की बात करे तोह हमारे यह एक है ट्रैक पर दोनु ट्रैन चलती है ( मालगाड़ी और passenger ट्रेन)
ये भी एक कारण है और ट्रेन लगे का कारण है बहुत ज़्यादा ट्रैफिक ट्रैन ज़्यादा चलानी पड़ती है रश की वजह से।
मालगाड़ी के लिए अलग ट्रैक बनाना शरू हो गया है ।
उमीद है फिर ट्रेन्स अपने समय पर चलने लगे गी।
आज हमने बात की  Indian Railways के profit और loss की 
जिसे देख कर हमें ये पता चला कि भारती रेल कोई ज़्यादा प्रॉफिट नहीं कमा रही हैं।
(Procedure to remove Article 370 धारा 370 को कैसे हटा सकते हैं।)

अगर   आपको ये पोस्ट  अच्छी लगी तोह कमेंट करें और शेयर करे     धन्यवाद।

1 comment: